ज़िंदेगी मे इतनी तेज़ी से आगे दौड्रोड़ की

“ज़िंदेगी मे इतनी तेज़ी से आगे दौड्रोड़ की लोगो के बुराई के धागे आपके पैरो मे ही आकर टूट जाए।”