Maine kuch iss trah khud ko sambhala hai ,,

मैंने कुछ इस तरह से खुद को संभाला है,

तुझे भुलाने को दुनिया का भरम पाला है,

अब किसी से मुहब्बत मैं कर नहीं पाता,

इसी सांचे में एक बेवफा ने मुझे ढाला है।

Koi pad na le us bewafaa kii yado ko..

बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,

ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,

कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को,

इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।

Use dil se bhulaya nahi gyaa…

हमने चाहा था जिसे उसे दिल से भुलाया न गया,

जख्म अपने दिल का लोगों से छुपाया न गया,

बेवफाई के बाद भी प्यार करता है दिल उनसे,

कि बेवफाई का इल्ज़ाम भी उस पर लगाया न गया।

Mujhe ishaq hai bus tum pyar ki sjaaa..

मुझे इश्क है बस तुमसे नाम बेवफा मत देना,

गैर जान कर मुझे इल्जाम बेवजह मत देना,

जो दिया है तुमने वो दर्द हम सह लेंगे मगर,

किसी और को अपने प्यार की सजा मत देना।

Apne bade nuksan kiye hai .. hansi chechro kai liye

हसीं चेहरों के लिए आईने कुर्बान किये हैं,

इस शौक में अपने बड़े नुकसान किये हैं,​

महफ़िल में मुझे गालियाँ देकर है बहुत खुश​,

जिस शख्स पर मैंने बड़े एहसान किये है।

bebwaafai uski dil se .. Aag lga kr aya hu

बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,

ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,

कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को,

इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।