Muzhe Kuch Afsos Nahi – Hindi Shayari

मुझे कुछ अफ़सोस नहीं के मेरे पास
सब कुछ होना चाहिए था,
मै उस वक़्त भी मुस्कुराता था..
जब मुझे रोना चाहिए था|

Ghar me Bahar Jane ke liye – Prem Shayari

घर से बाहर कोलेज जाने के लिए वो नकाब मे निकली….
सारी गली उनके पीछे निकली…

इनकार करते थे वो हमारी मोहबत से……….
और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली………

Us Jaisa Moti Pure Samundar me Nahi – Pyaar Shayari

उस जैसा मोती पूरे समंद्र में नही है,
वो चीज़ माँग रहा हूँ जो मुक़्दर मे नही है,

किस्मत का लिखा तो मिल जाएगा मेरे ख़ुदा,
वो चीज़ अदा कर जो किस्मत में नही है…

Woh Bewafa hamara Imtehan Kya Legi !!

वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी…
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे ज़ुका लेगी…
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना…
वो नादान है यारो… अपना हाथ जला लेगी.

Wahi Ranjishe Wahi Hasrate – Sad Shayari

वही रंजीशे वही हसरतें

ना ही दर्दे दिल में कमी आई हे

अजीब सी मेरी जिंदगी

ना गुजर सकी ना खत्म हुई

Wahi Pyaas ke Angadh Moti – Kumar Vishvas Shayari

वही प्यास के अनगढ़ मोती, वही धूप की सुर्ख कहानी,

वही आंख में घुटकर मरती, आंसू की खुद्दार जवानी,

हर मोहरे की मूक विवशता, चौसर के खाने क्या जाने ?

हार जीत तय करती है वे, आज कौन से घर ठहरेंगे !

निकल पडे हैं पांव अभागे,जाने कौन डगर ठहरेंगे ?

Mai use janti bhi nahi thi – Pyaar Shayari

मै उसे जानती भी नही थी पर

#इश्क कहाँ जानता है किससे होना है किससे नही💞____


Mai use janti bhi nahi thi par

#ishkq kahan janta hai kisse hona hai kisse nahi !!