Ae Palak Tu Band Ho Ja – Intezaar Hindi Shayari

“ए पलक तु बन्‍द हो जा,

ख्‍बाबों में उसकी सूरत तो नजर आयेगी

इन्‍तजार तो सुबह दुबारा शुरू होगी

कम से कम रात तो खुशी से कट जायेगी ”

Usne Kaha Ab Kiska Intezaar Hai- Intezaar Hindi Shayari

उसने कहा अब किसका इंतज़ार है;

मैंने कहा अब मोहब्बत बाकी है;

उसने कहा तू तो कब का गुजर चूका है ‘मसरूर’;

मैंने कहा अब भी मेरा हौसला बाकी है!

Unka Bhi Kabhi Hum Didar Karte Hai- Intezaar Hindi Shayari

उनका भी कभी हम दीदार करते है

उनसे भी कभी हम प्यार करते है

क्या करे जो उनको हमारी जरुरत न थी

पर फिर भी हम उनका इंतज़ार करते है !